Motivational Story In Hindi | जो होता है अच्छे के लिए होता है

0

जो होता है अच्छे के लिए होता है Motivational Story For Students

हेलो दोस्तों समरीन इंस्टिट्यूट में आपका बहुत-बहुत स्वागत है आज हम आपको बताएंगे कि जो होता है अच्छे के लिए होता है इसके बारे में इसीलिए आर्टिकल को पूरा ज़रूर पढ़ें ताकि आपको सही तरीके से समझ में आ सके तो चलिए शुरू करते हैं ।

सफलता के लिए प्रेरक कहानी हिंदी में | Motivational Story In Hindi For Success

इस आर्टिकल की शुरुआती हैडलाइन को पढ़कर आप यह समझ ही गए होंगे कि आज हम किसके बारे में बात करेंगे जो होता है अच्छे के लिए होता है इस लाइन पर आप ज़्यादा विश्वास नहीं करते होंगे क्योंकि अगर आपके साथ कुछ बुरा होता है तो आप यह सोचते हैं कि इसमें अच्छा क्या था और आप अपनी किस्मत को दोष देने लग जाते हैं जैसे मान लीजिए आप कहीं दंगल के लिए लड़ने जाते हैं और आप उसमें हार जाते हैं तो आप यही सोचेंगे कि मेरी किस्मत ही खराब है और मेरे साथ बहुत बुरा हुआ परंतु कोई है नहीं सोचता कि मेरी हार की वजह से मुझे सीखने को मिला कि मुझे अगली बार क्या-क्या गलती नहीं करनी है और मैं पहले से भी अच्छा अगली बार करूंगा परंतु लोग बस अपनी हार के बारे में ही सोचते हैं और उस कार्य को बंद कर देते हैं जिसमें वह नहीं कर पाए अपनी बात समझाने के लिए हम आपको आज एक कहानी सुनाएंगे जिससे कि आपको और अच्छे से समझ में आए तो नीचे दी गई कहानी को ध्यानपूर्वक पढ़ें यह कहानी बहुत ही दिलचस्प होने वाली है ।

यह कहानी एक राजा और मंत्री की होने वाली है जो कि काल्पनिक है । एक बार तलवारबाजी का अभ्यास करते समय राजा के उल्टे हाथ की एक उंगली कट गई जिस कारण राजा को बहुत पीड़ा हुई जब राजा ने अपनी उंगली के बारे में अपने खास मंत्री को बताया तो मंत्री ने कुछ ऐसा कहा जिससे राजा को बहुत गुस्सा आ गया मंत्री ने राजा से कहा था की कोई बात नहीं राजन जो होता है अच्छे के लिए होता है । और आप इस बारे में ज्यादा न सोचें मंत्री के यह वचन सुनने के बाद राजा ने सोचा की एक तो मेरी उंगली कट गई और यह कह रहा है कि अच्छा हुआ । मंत्री की इस बात पर राजा को बहुत गुस्सा आया और उसने मंत्री को जेल में बंद करवा दिया ।

राजा ने पुराने मंत्री के स्थान पर एक नए मंत्री को चुन लिया और बाद में वह मंत्री राजा का खास बन गया । राजा जहां भी जाते उस मंत्री को अपने साथ लेकर जाते । एक बार राजा जब शिकार करने गए थे तो कुछ आदिवासियों ने राजा और उसके मंत्री को बंदी बना लिया और अपनी देवी के लिए राजा और मंत्री को बलि के लिए तैयार करने लगे परंतु जब आदिवासियों ने राजा की कटी उंगली को देखा तो राजा कोई है कह कर छोड़ दिया कि तुम्हारा शरीर खंडित है इसलिए हम तुम्हारी बलि नहीं दे सकते और राजा के स्थान पर पर उसके मंत्री की बलि दे दी जिस कारण राजा तो बच गया परंतु उसका मंत्री मारा गया ।

तब राजा को उसके मंत्री की बात याद आई कि जो होता है अच्छे के लिए होता है तब राजा ने अपने मंत्री को जेल से छुड़वाया और उस से माफी मांगी मंत्री को इस बारे में सब कुछ बताया राजा ने मंत्री से कहा कि तुम सही कहते थे जो होता है अच्छे के लिए होता है परंतु मुझे एक बात समझ नहीं आई की मैंने तुम्हें जेल में डाला इसमें तुम्हारे साथ क्या अच्छा हुआ तब मंत्री ने खुश होकर कहा की अगर आप मुझे जेल में नहीं डालते तो उस दिन मैं आपके साथ होता और उस मंत्री के स्थान पर मेरी बलि चढ़ जाती जिससे कि मेरे भी प्राण बच गए तब राजा को यह भली-भांति समझ में आ गया कि जो होता है अच्छे के लिए ही होता है ।

आशा है कि राजा की तरह आप भी समझ गए होंगे कि जो होता है अच्छे के लिए ही होता है ।और आपको हमारा आर्टिकल पड़कर अच्छा लगा होगा और ऐसी ही प्रकार की बातों को जानने के लिए हमे फॉलो करते रहें ।

अगर आपको आर्टिकल पसंद आए तो कृपया इस आर्टिकल को अपने सभी दोस्तों के साथ शेयर ज़रूर करें अगर आपको आर्टिकल समझने में कोई भी समस्या हो तो आप हमें कमेंट करके ज़रूर बताएं हम आपकी समस्याओं का समाधान ज़रूर करेंगे आर्टिकल को पूरा पढ़ने के लिए बहुत-बहुत शुक्रिया ।

Post a Comment

0Comments

अगर आपको इस पोस्ट से जुडी कोई समस्या है तो हमें कमेंट करके ज़रूर बताएं

Post a Comment (0)