GST Registration Kaise Kare | जीएसटी नंबर के लिए आवेदन कैसे करें ?

0

GST Registration Kaise Karen | जीएसटी रजिस्ट्रेशन कैसे करें ?

हेलो दोस्तों समरीन इंस्टिट्यूट में आपका बहुत-बहुत स्वागत है मैं हूँ आपके साथ अहमद आज़मी और आज हम आपको बताएँगे कि GST नंबर के लिए आवेदन कैसे करें ? इसकी कम्पलीट जानकारी हम आपको इस आर्टिकल के अंदर देने वाले हैं इसीलिए आर्टिकल को पूरा ज़रूर पढ़ें ताकि आपको सही तरीके से समझ में आ सके तो चलिए शुरू करते हैं ।

GST Number Kaise Prapt Karen | जीएसटी नंबर प्राप्त कैसे करें ?

जीएसटी रजिस्ट्रेशन करने के लिए सबसे पहले तो हमें यह जानना होगा कि यह होता क्या है ? GST का पूरा नाम Goods and Services Tax होता है कोई भी सामान अगर आप खरीदते हैं तो उस सामान पर जीएसटी लगाया जाता है GST रजिस्ट्रेशन करने के लिए सबसे पहले आपको लिंक gst.gov.in पर क्लिक करके वेबसाइट को ओपेन कर लेना है उसके बाद  Service में जाएंगे और सर्विस में जाने के बाद फिर वहां से हमें Registration के ऑप्शन पर क्लिक करना है उसके बाद New Registration के ऑप्शन पर क्लिक करना है जैसा कि मैंने आपको फोटो में दिखाया है ।

अब आपको सबसे पहले Tax Payer ऑप्शन को सेलेक्ट करना होगा उसके बाद राज्य सेलेक्ट करना है फिर जिला और टैक्सपेयर होल्डर के पैन कार्ड का नंबर यह तो प्रोसेस होता है रजिस्ट्रेशन का रजिस्ट्रेशन में मेन डॉक्यूमेंट जो लगते हैं वह होते हैं आधार कार्ड, पैन कार्ड पासपोर्ट साइज फोटो और लीगल ओनरशिप, इलेक्ट्रिसिटी बिल अगर मान लीजिए कि बिज़नेस करने का स्थान हमारा रेंटेड है तो उस कंडीशन में रेंट एग्रीमेंट माना जाता है ।

तो जीएसटी रजिस्ट्रेशन करने के लिए हमें उन सारे डॉक्यूमेंट को एकत्र करना होगा और उसके बाद जीएसटी पोर्टल से सारी इन्फॉर्मेशन भरनी होगी न्यू रजिस्ट्रेशन करने के लिए यह प्रोसेस करना कंपलसरी है उसके बाद जो यह प्रोसेस कर लेते हैं तो फिर एक TRN जनरेट होता है जिसे टेंपरेरी रिफरेंस नंबर कहते हैं ।

उससे आगे का प्रोसेस कंप्लीट करते हैं जैसे बिज़नेस कहां करना है बिज़नेस क्या करना है उन सारी डिटेल्स को हम एक-एक करके भरते हैं जैसे ही हमारा प्रोपराइटर मोबाइल नंबर ईमेल आईडी सारी चीजें बिज़नेस ऐड्रेस लोकेशन भरते हैं तो हमारा 100 परसेंट कंप्लीट होना ज़रूरी है तो हम ओटीपी के ज़रिए उसको Submit करते हैं और सबमिट करने के बाद एक ए आर एन नंबर जनरेट होता है ।

ए आर एन नंबर से हम उसको पता लगा सकते है कि जीएसटी नंबर आने में कितना वक्त लगेगा पूरा प्रॉसेस कंप्लीट होने के बाद कुछ देर बाद एक हाइपर लिंक मेल आईडी पर जाता है जिसे वेरिफाई करना होता है वेरिफाई करने के लिये लिंक को ओपेन करते है फिर उसने जिसका जी एस टी रजिस्ट्रेशन कर रहे है उसका आधार नंबर डालना होता है इसके बाद ए आर एन नंबर जर्नेट होता है और उससे हम अपनी ऐप्लिकेशन का स्टेटस चेक करते है ।

अगर आपको आर्टिकल पसंद आए तो कृपया इस आर्टिकल को अपने सभी दोस्तों के साथ ज़्यादा से ज़्यादा शेयर करें ताकि उनको भी इसकी जानकारी प्राप्त हो सके अगर आपने अभी तक हमारे टेलीग्राम ग्रुप को ज्वाइन नहीं किया है तो हमारी वेबसाइट पर आपको टेलीग्राम ग्रुप का ज्वाइन बटन मिल जाएगा आप उस पर क्लिक करके ग्रुप से ज्वाइन हो सकते हैं जहां पर आप कोई भी सवाल जवाब हम से कर सकते हैं आर्टिकल को पूरा पढ़ने के लिए बहुत-बहुत शुक्रिया ।

Post a Comment

0Comments

अगर आपको इस पोस्ट से जुडी कोई समस्या है तो हमें कमेंट करके ज़रूर बताएं

Post a Comment (0)